“माँ,ॐ,मौन,योग,ध्यान” हैं सफल मन्त्र

“बुजुर्गों की दुआ लेने, उनकी सेवा करने, चरणों मे शीश रखने से इज्जत कम नहीं होती । वे अक्षुण्ण स्रोत हैं हम नदी और ऐसी नदियों को बहते रहने के लिए किसी पथ या सहारे की जरूरत नहीं होती।”

डॉ वेदव्यास जयप्रकाशनारायण जी द्विवेदी

“Elders are eternal source of blessings, bow down to their feet and serve them for your ever growth.”

DR. VEDVYAS JAYPRAKASHNARAYANJI DWIVEDI

Scientific, Spiritual Life Long Learning Centre for Eternity 

अध्यात्मिक विज्ञान है सम्पूर्ण ज्ञान मार्ग,संतुष्ट समाज की कुंजी

Follow on

Do you want to meet me?